अष्टमी तिथि मतभेद से श्रीकृष्ण जन्माष्टमी आज

अष्टमी तिथि मतभेद से श्रीकृष्ण जन्माष्टमी आज
श्रीकृष्ण जन्माष्टमी तिथि को लेकर इस बार मतभेद हैं। शुक्रवार को श्रीकृष्ण जन्म के समय (मध्यरात्रि) अष्टमी होगी लेकिन जिस रोहिणी नक्षत्र में जन्म हुआ था, वह शनिवार को रहेगा। कुछ ज्योतिषाचार्यों की राय में कृष्ण प्रगटोत्सव अष्टमी व्यापिनी तिथि 23 अगस्त को मनाना श्रेष्ठ है, वहीं कुछ की राय में जन्माष्टमी उदयातिथि अष्टमी और रोहिणी नक्षत्र होने से 24 अगस्त को है।
ज्योतिषाचार्य नानी निवासी प. धर्मेन्द्र शास्त्री और पं. दीनदयाल शर्मा के अनुसार अष्टमी तिथि 23 अगस्त को प्रात: 8:09 से 24 अगस्त को प्रात: 8:32 तक है। रोहिणी नक्षत्र 24 अगस्त को प्रात: 3:48 से 25 अगस्त को प्रात: 4:17 बजे तक रहेगा। श्रीकृष्ण का जन्म रात्रि बारह बजे माना गया है। कृष्ण का जन्म भाद्रपक्ष की अष्टमी को रोहिणी नक्षत्र में हुआ था। इस बार अष्टमी व रोहिणी नक्षत्र का योग अलग-अलग तिथि में है।
श्रीकृष्ण जन्म में रात्रिव्यापिनी अष्टमी का ही विशेष महत्व है।

No comments:

Featured post

सीकर जिले में चक्का जाम पूर्ण रूप से सफल..आंदोलन ने जोर पकड़ा..पुलिस अलर्ट पर

छात्रसंघ चुनाव  की मतगणना के दौरान लाठीचार्ज के मामले में जिम्मेदार पुलिस अधिकारियों को बर्खास्त करने की मांग को लेकर चल रहा माकपा का आ...

/fa-clock-o/ WEEK TRENDING$type=list