सीकर में भारी बारिश के कारण इस भामाशाह ने कह दी बड़े दिल की बात...

प्रदेशभर में बारिश का दौर जारी है इस बीच सीकर शहर में बारिश अपना रूद्र रूप बना चुकी है।
सीकर शहर में कल रात्रि से हो रही तेज बारिश के कारण बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो चुकी है,प्रशासन की मानें तो पूरा जिला प्रशासन इस विकट परिस्थिति में संपूर्ण तैयारी के साथ खड़ा है। कल रात से हो रही बारिश की वजह से सीकर शहर का जनजीवन पूरी तरह अस्त-व्यस्त हो चुका है सीकर का केंद्र कहा जाने वाला कल्याण सर्किल पूरी तरह से जल मदनी जलमग्न हो चुका है।बजाज रोड की बात करें तो वहां पर 5 फुट पानी भर चुका है, गाड़ी तो दूर की बात है पैदल व्यक्ति भी उधर से निकलता है तो जान जोखिम में लेकर गुजरता है।
बजाज रोड की स्थिति इतने भयानक हो चुकी है कि लोगों के घरों में पानी घुस गया मौसम की मौजूदा स्थिति की बात करें तो बारिश अगले 18 घंटे तक अपना रुख बरकरार रखेगी ।बात करते हैं  नवलगढ़ रोड की जहां पर पुलिया से लेकर किसान कॉलोनी तक कोई भी व्यक्ति दिखाई नहीं दे रहा है दुकानों में पानी भर चुका है यहां तक कि उद्योग नगर थाना भी पानी की गिरफ्त में आ चुका है अब हम चलते हैं डिपो की तरफ दीपू बस डिपो पूरी तरह से जलमग्न है गाड़ियों का आवागमन पूरी तरह से बाधित है और जो गाड़ियां दूर से आ रही हैं वह गाड़ियां ही बस डिपो में पहुंच पा रही हैं।
इस बीच सीकर शहर के भामाशाह वाहीद चौहान ने जनता के लिए अपील की है कि अगर किसी का मकान गिर जाता है या घर की स्थिति गिरने पर आमदार तो वह परिवार एक्सीडेंट्स एक्सीलेंस स्कूल परिसर में रह सकता है।

पंडित दीनदयाल उपाध्याय शेखावाटी विश्वविद्यालय,सीकर द्वारा मात्र एक साल में स्नातक (प्रथम,द्वितीय व तृतीय)स्तर पर हिन्दी साहित्य के द्वितीय प्रश्न-पत्र का पाठ्यम बदलने के कारण विद्यार्थियों में भारी आक्रोश

पंडित दीनदयाल उपाध्याय शेखावाटी विश्वविद्यालय,सीकर  द्वारा मात्र एक साल में स्नातक (प्रथम,द्वितीय व तृतीय)स्तर पर हिन्दी साहित्य के द्वितीय प्रश्न-पत्र का पाठ्यम बदलने के कारण विद्यार्थियों में भारी आक्रोश ।
  पंडित दीनदयाल उपाध्याय शेखावाटी विश्वविद्यालय ने लगातार दूसरे वर्ष पाठ्यक्रम बदल कर विद्यार्थियों पर आर्थिक भार बढ़ा दिया है । भारी असमंजस के कारण कक्षाएं नहीं लग पा रही हैं । महाविद्यालयों में स्थित पुस्तकालयों को भी भारी बोझ उठाना पड़ेगा । पुरानी पुस्तकें अनुपयोगी हो जाएगी । नई पुस्तकें अभी तक बाज़ार में उपलब्ध नहीं है । श्री कल्याण स्नातकोत्तर कन्या महाविद्यालय ,सीकर के सहायक आचार्य डॉक्टर कैलाश सैनी ने बताया कि पाठ्यम बदलने के कारण   अभी कक्षाएं नहीं लग पा रही हैं । विद्यार्थियों को भारी खामियाजा  उठाना पड़ रहा है ।  विभिन्न छात्र संघ उच्च शिक्षा मंत्री को शिकायत कर चुके हैं । अगर कुलपति ने शीघ्र इस  निर्णय को वापस  नहीं लिया तो छात्र संघ मुख्यमंत्री से मिलेंगे और विश्व विद्यालय की शिकायत करेंगे । छात्र संघों ने  उग्र आंदोलन की धमकी दी है ।

बुध गिरी मंडी प्रांगण में 5 दिन में लगाए 1500 पौधे

बुध गिरी मंडी प्रांगण में 5 दिन में लगाए 1500 पौधे
. फतेहपुर शेखावाटी हमारा फतेहपुर हरा-भरा फतेहपुर अभियान के तहत प्रकृति का संतुलन बना रहे इसके लिए बुद्धगिरी मंडी प्रांगण में महंत श्री दिनेश गिरी जी महाराज के सानिध्य में पिछले 5 दिनों में 1500 पौधे लगाए गए जिसमें नीम पीपल शीशम सिरस सहित तकरीबन 10 से ज्यादा किस्म के पौधे लगाए गए 2017 में मंडी प्रांगण में 500 पौधे लगाए गए थे जोकि उनमें से लगभग 450 से ज्यादा पौधे तैयार हो चुके हैं पौधारोपण अभियान में शहर कोतवाल उदय सिंह यादव ने भी पौधारोपण किया

परिसीमन को लेकर पालाश पंचायत के ग्रामीणों ने जताया विरोध

परिसीमन को लेकर पालाश पंचायत के ग्रामीणों ने जताया विरोध उपखंड अधिकारी को सौंपा ज्ञापन..
फतेहपुर शेखावाटी पंचायतों के परिसीमन को लेकर पालाश पंचायत के ग्रामीणों ने बुधवार को उपखंड अधिकारी रेणु मीणा को ज्ञापन सौंपा ग्रामीणों का कहना है कि पंचायत का पूर्णगठन कर नई पंचायत बनाई जा रही है जिसके तहत नगरदास बागास बड़वा की ढाणी तथा दाढूंनद को जोड़कर  नई ग्राम पंचायत बनाई जा रही है जिसका पंचायत मुख्यालय दाढूनदा ग्राम को बनाया जा रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि नई ग्राम पंचायत का मुख्यालय नगरदास को बनाया जाए जो कि सभी गांव के बीच में स्थित है दाढूनदा गांव सभी गांव से दूर है और अलग है जिसके लिए यातायात का साधन भी नहीं है अतः नई ग्राम पंचायत का मुख्यालय या तो नगरदास रखा जाए अन्यथा पालास पंचायत को यथावत ही रहने दिया जाए ज्ञापन देने के दौरान राजकुमार झाझरिया शिवभगवान बनवारीलाल मुखराम शिशुपाल सिंह भगवान सिंह बालूराम कानाराम विजेंद्र पूर्व सरपंच अशोक प्यारेलाल भागीरथ मल बंशीधर सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।

दादिया शमशान भूमि पर पर्यावरण प्रेमियों ने किया पौधरोपण




यूुवा जमकर कर रहे हैं वृक्षारोपण प्रकृति से प्रेम और पर्यावरण बचाओ का दे रहे संदेश
सीकर जिले के दादिया गांव की सावर्जनिक शमशान भूमि पर दादिया ग्रामवासियों के द्वारा वृक्षरोपण किया गया। पौधा-रोपण कार्यक्रम मे दादिया सरपंच भवानी शंकर, पूर्व सरपंच मोहन लाल, समाजसेवी ब्रजसुन्दर आर्य,फाइक हुसैन,फुलदास स्वामी,लईकअहमद,केसर देव, दिनेश सैन, भागीरथ मील, पंकज शर्मा, झाबर सिंह सहित युवाओं ने हजारों की संख्या में वृक्षारोपण किया।
समाजसेवी ब्रजसुन्दर आर्य ने बताया कि एक पौधा एक सेल्फी अभियान के तहत पौधे लगाए। वास्तव में मन को बड़ा सुकून मिलता है जब हम पौधरोपण करते हैं,और उससे भी ज्यादा सुकून तब मिलता है जब वह पौधा बड़ा होता है। हम उसकी छांव में बैठकर औरों को यह कहते हैं कि यह हमारे द्वारा लगाया गया है।ब्रजसुन्दर आर्य कहा कि युवा वर्ग ज्यादा से ज्यादा तादाद में पौधारोपण करें ताकि आने वाले पीढ़ी को हम भी कुछ देकर जा सके।

दादिया श्मशान भूमि पर कल होगा पौधरोपण


दादिया गाँव में कल शमशान भूमि पर ग्रामवासियों के द्वारा पौधरोपण किया जायेगा।समाजसेवी ब्रजसुन्दर आर्य ने बताया कि आज शायद हर इंसान को समझने की आवश्यकता है क्योंकि हमारे जीवन की जो सबसे मुख्य धारा है वह है शुद्ध ऑक्सीजन ओर बगैर ऑक्सीजन के इंसान पल भर भी नहीं जी सकता यह जानने के बाद भी पता नहीं हम पेड़ पौधों से क्यों दूरियां बनाए जा रहे हैं किसी जमाने में हमारे बुजुर्ग सेठ साहूकार पेड़ लगाते थे जिनकी छाया के नीचे हम आज भी बैठते हैं और उस पेड़ से ऑक्सीजन हम प्रतिदिन ग्रहण करते हैं क्या हमने कभी सोचा है हमारे बुजुर्ग जो चीज हमें देकर गए थे क्या हम हमारी आने वाली पीढ़ी को कुछ दे पाएंगे आज हालात यह है कि पेड़ों की अंधाधुंध कटाई आम लोगों का पेड़ पौधों के प्रति मोहभंग  का नतीजा है कि भारत में भी तापमान 55 डिग्री तक चला गया है अगर आने वाले 5 साल में यही हाल रहे तो हम कल्पना भी नहीं कर पाएंगे कि हम कौन से स्तर पर होंगे अगर हर इंसान अपने जीवन में एक पेड़ भी लगाएं तो यह मात्रा बहुत ज्यादा होती है लेकिन  हमारा प्रयास होना चाहिए कि हम हर बार बारिश के मौसम में एक पेड़ जरूर लगाएं और उसकी रखवाली भी करें।
प्रोत्साहन के लिए खबरि बाबू के कॉमेंट बॉक्स में उसके साथ लिया हुआ फोटो  अपलोड करें ताकि हमें देख कर अन्य लोग भी प्रोत्साहन हो।
अतः आप इस महोत्सव में भाग लेने के लिए कल गुरुवार सुबह आठ बजे दादिया श्मशान भूमि पर पहुंचे।

क्या अंजना ओम कश्यप ने प्रेमी जोड़े का इंटरव्यू नहीं बल्कि एक पिता की इज्जत का बलात्कार किया है!

विधायक की बेटी घर से भागकर शादी करने का मामला
एक न्यूज चैनल अपने आप को पॉपुलर करने के लिए एक बाप को इतना मजबूर कर सकता है?
देश में बहुत मुद्दे हैं लेकिन एक परिवार को टॉर्चर कितना सही!!

ऑनलाइन ठगी का शिकार हुआ लक्ष्मणगढ़ का जुल्फिकार

ऑनलाइन ठगी का शिकार हुआ युवक
प्राप्त जानकारी के अनुसार लक्ष्मनगढ कस्बे के रहने वाले जुल्फिकार पुत्र गुलाम मुस्तफा क़ाज़ी के पास एक कॉल आया।जिसमें बताया गया कि आपके जियो नम्बर को लक्की ड्रा में चुना गया है,जिसमें बताया गया कि आपको पच्चीस लाख रुपए की राशि ईनाम दिया जाएगा।उक्त व्यक्ति को बताया गया कि सर्विस टैक्स के 80,000 रुपए आपको पहले जमा करवाने होंगे।पीड़ित व्यक्ति ने कहने के मुताबिक रुपए अस्सी हजार जमा भी करवा दिए।
उसके बाद वहां से कोई जवाब नहीं आया व मोबाइल बन्द है।।।

Featured post

तारपुरा में ग्रामीण फुटबॉल प्रतियोगिता के उद्घाटन सत्र की शुरुआत

       आज तारपुरा गांव में मां मनसा माता फुटबॉल क्लब द्वारा द्वितीय ग्रामीण फुटबॉल प्रतियोगिता के उद्घाटन सत्र की शुरुआत थोरासि और जेठी ...

/fa-clock-o/ WEEK TRENDING$type=list